भाखड़ा ब्यास प्रबन्ध बोर्ड

भाखड़ा ब्यास प्रबन्ध बोर्ड
सर्च

प्रगति की ओर अग्रसर

  • राष्ट्रीय जल परियोजना

    राष्ट्रीय जल परियोजना
    29 अक्तूबर, 2018
    जल संसाधन मंत्रालय, भारत सरकार ने विश्‍व बैंक के सहयोग से राष्‍ट्रीय जल विज्ञान परियोजना की शुरूआत की । यह परियोजना पूर्व की जल विज्ञान परियोजना द्वितीय का ही अगला भाग है । समझौते पर दिनांक 23.06.2016 को अंतार्राष्‍ट्रीय पुनर्निर्माण एवं विकास बैंक (I.B.R.D.) तथा भारत सरकार ने हस्‍ताक्षर किए। परियोजना नवम्‍बर, 2016 से प्रभावी है। परियोजना की अवधि 8 वर्ष की है तथा संभवत: 2024 तक समाप्‍त होगी । इस परियोजना के दौरान किए जाने वाले कार्य:- 1. विभिन्‍न स्‍थापित कार्यों के सुदृढ़ीकरण एवं आधुनिकीकरण के कार्य । 2. नए डाटा सेंटर का निर्माण । 3. विभिन्‍न निकास स्‍थलों पर गेट सेन्‍सर लगाने के कार्य सम्मिलित हैं । 4. इसके अतिरिक्‍त विभिन्‍न कार्यों में लगे अभियन्‍ताओं को इस तरह मॉडलों को चलाने के प्रशिक्षण संबंधी कार्य सम्मिलित किए गए हैं ।
  • बी.बी.एम.बी. भाखड़ा विद्युत गृहों के नवीनीकरण, आधुनिकीकरण एवं उन्नतीकरण की ओर अग्रसर

    बी.बी.एम.बी. भाखड़ा विद्युत गृहों के नवीनीकरण, आधुनिकीकरण एवं उन्नतीकरण की ओर अग्रसर
    29 अक्तूबर, 2018
    भाखड़ा विद्युत गृह बायां किनारा की सभी उत्‍पादक यूनिटों के मूल डिजाइन की क्षमता 90 मैगावाट है। बाद में इनका उन्‍नयन कर 108 मैगावाट किया गया है और अब इनका उन्‍नयन करके 108 मैगावाट से 126 मैगावाट किया जा रहा है। विद्युत गृह की वर्तमान उत्‍पादन क्षमता 540 मैगावाट ( 5x108 मैगावाट) है जिसे उन्‍नयन कर 630 मैगावाट ( 5x126 मैगावाट) किया जा रहा है । 5 यूनिटों के नवीकरण, आधुनिकीकरण और उन्‍नयन (आर.एम.यू.) का ठेका अनुमानित लागत रू 490 करोड में मैसर्ज सुमीटोमो जापान, मैसर्ज हिताची जापान और मैसर्ज एंड्रिज, ऑस्ट्रिया को प्रदान किया गया है । इन पांच यूनिटों का आर.एम.यू. का कार्य व्‍यवस्‍थित तरीके से निष्‍पादित किया जा रहा है और अक्‍तूबर 2019 तक पूर्ण होगा ।
Back to Top